• /homeopathic medicines case photos/

    Dr Rajesh Shah and his team have answered over million queries from patients across the globe

    Ask your query to Dr Shah, now! 

    READ MORE...

अनुसंधान पर आधारित होयिोपेथी का इरीटेबल बाबेल सिन्ड्रोम पर नियंत्रण

  • डॉ. शाह     
  • लाईफफोर्स 
  • इरीटेबल बाबेल सिन्ड्रोम को जानिए
  • प्रेस सूचना
  • होमियोपेथी के बारे मे जानिए

इरीटेबल बाबेल सिन्ड्रोम को जानिऐें

  • इरीटेबल बाबेल सिन्ड्रोम क्या है ?
  •  रोग के कारण
  • औपचारिक उपचार
  • होमियोपेथिक उपचार

इरीटेबल बाबेल सिन्ड्रोम क्या है ?

इरीटेबल बाबेल सिन्ड्रोम (Irritable Bowel Syndrome) पाचनसंबंधी बहुत ही सामान्य बीमारी है । यह एक क्रियागत बीमारी है । यह बीमारी कई लक्षणो का संग्रह है जिसका कोई विशेष स्पष्टीकरण नही होता आई.बी.एस. (घ्ँए) शरीर की कार्यप्रणाली में गड़बड़ी की बीमारी है । क्योकि इस बीमारी मे कोई भी लक्षण जैसे की अतड़ी मे सूजन एवं शारीरिक परिवर्तन नही पाये जाते है । आई.बी.एस. वाले मरीज की आत मे खिचाव आ जाता जिसके कारण आतो से भोजन तेजी से अथवा धीरे धीरे निकलता है ।

रोग के कारण

Irritable bowel syndrome ke karan

आई.बी.एस. (IBS) शरीर की कार्यप्रणाली में गड़बड़ी की बीमारी है । क्योकि इस बीमारी मे कोई भी लक्षण जैसे की आत मे सूजन एवं शारीरिक परिवर्तन नही पाये जाते ।

फिर भी इस बीमारी के निम्न कारण हो सकते है :

  • तनाव
  • कई खाद्य पदार्थो की अतिसंवेदनशीलता
  • जननिक प्रवृति
  • कुछ मरीजो मे आई.बी.एस.(घ्ँए), किसी पेट की बिमारी या पेट की शल्य क्रिया के बाद हो जाती है
  • दवाईयाँ स्टीराइड्स (steroids) एंटीबायोटिक (Antibiotics)  इत्यादि
  • संक्रमण
  • आनुवांशिक
irritable bowel syndrome ki wajah stress

रोग के लक्षण

  • पेट मे दर्द |
  • असाधरण अनियमित पाखाना |
  • जुलाब, कब्ज बार बार होते है ।
  • पेट फूल जाता है ।
  • पाखाना असंतुष्ट रुप मे होता है ।
  • पाखाना में आब होता है ।
  • मतली आति है कभी कभी उलटिया भी होती है ।

औपचारिक उपचार

  • दस्त रोकने वाली दवाईया
  • पाखाना साफ करने वाली दवाईया
  • पेट मे दर्द और मरोड़ रोकने वाली दवाईया
  • सम्मोहन चिकित्सा
  • तनावरहित करनेवाली दवाईया

होमियोपेथिक उपचार

 

होमियोपेथिक दवाईया आंतरिक स्थर पर काम करती है और स्वास्थ मे आए हुए बदलावो को सुधारती है । आतिड़यो और विभाग में संतुलन बराबर रखती है । इस के फल स्वरुप अतिड़यो की हरकत सामान्य हो जाती है। जिससे कब्ज और दस्त बार बार आना बंद हो जाते है ।

होमियोपेथि मे आई.बी.एस. (IBS) के मरीज को पुर्णता से जाचा जाता दहै । इसमे बिमारी के वास्तविक लक्षणो के साथ साथ मरीज के मनोभाव, जननिक प्रवृति इत्यादि लक्षणो को जाचा जाता है ।
इन सभी लक्षणो का मुल्याकंन करने के बाद मरीज को दवाई दी जाती है । यह होमियोपेथिक दवाई बीमारी का उपचार जड़ से करती है और उसे नियंत्रर मे रखती है ।

 

Other Diseases Case Photos

Results may vary from person to person

Irritable Bowel Syndrome Videos

Results may vary from person to person

ORDER TREATMENT ONLINE

Our Homeopathy treatment is now just a few clicks away.

Learn More...
Select your disease (s)
(Treatment for additional diseases charged at 50%)(*T&C Apply)


















































payment option icons 
Site Seal
Find out the chances
of cure
(Free)
Curability Test

Ask your question directly to Dr Shah's team

Send query for a genuine homeopathy opinion. We have answered over a million people.